Monday, July 16, 2018
Aryavart india > Uncategorized > लहसुन के औषधीय गुण और फायदे

लहसुन के औषधीय गुण और फायदे

लहसुन के औषधीय गुण

लहसुन के औषधीय गुणलहसुन के औषधीय गुण और फायदे

दोस्तों लहसुन एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसे अत्यधिक गुणकारी माना गया है बहुत से लोग इसे नहीं खाते हैं परंतु मेरे विचार से से हर किसी को ग्रहण करना चाहिए खाना चाहिए क्योंकि इसके जुगाड़ में आपको बताने वाला हूं वह शायद आप देखकर यह जानकर चौक जाएं।

क्या-क्या होता है लहसुन में

दोपहर इस विषय में बात की जाए दोस्तों यदि इस विषय में बात की जाए लहसुन में क्या-क्या चीजें मौजूद होती हैं तू लहसुन में 68.8% पानी 6.3% प्रोटीन दशमलव 7% वसा 29% कार्बोहाइड्रेट 1% खनिज 3% कैल्शियम दशमलव 3 1% फास्फोरस 1.3 मिलीग्राम लोहा मौजूद होता है तो इतनी सारी चीजों के होने के बाद यदि कोई लहसुन ना खाएं तो हमारी मूर्खता ही होगी क्योंकि इतनी सारी चीज है किसी एक चीज से प्राप्त हो जाएं ऐसा दुर्लभ है।

किन किन रोगों में कारगर है लहसुन

यदि रोगों से लड़ने की बात करें तुम मलेरिया पेट दर्द अफरा कमर के जोड़ों के दर्द हैजा मिर्गी हड्डी टूटने कुत्तों के काटने शरीर संवर्धन आदि में लहसुन गुणकारी है इसके अतिरिक्त ली और बात की जाए तो शरीर का दुबलापन शरीर की दुर्बलता क्षय रोग खांसी सर्दी जुखाम हृदय रोग निमोनिया आदि में लहसुन अत्यधिक लाभकारी है तो आइए जान लेते हैं कि विभिन्न तरह के रोगों में लहसुन को किस तरह से उपयोग कर कर आप उन लोगों से बच सकते हैं।

मलेरिया में लहसुन का प्रयोग

दोस्तों यदि किसी को मलेरिया हो गया है तो ऐसे में लहसुन अत्यधिक कारगर है आपको करना यह होगा कि आप लहसुन लीजिए और कूटकर उसका काढ़ा बना लीजिए उसमें थोड़ा सा सेंधा नमक मिला दीजिए और रोगी को दीजिए इससे रोग नष्ट हो जाता है पर इस बात का ध्यान रखिए कि इसका सेवन आपको प्रातः काल यानी सुबह के समय करना है

यदि शरीर का तापमान कम हो जाए तब लहसुन का प्रयोग

दोस्तों कभी-कभी ऐसा होता है कि शरीर का तापमान एकदम से नीचे गिर जाता है मतलब जो हमारा शरीर का तापमान 37 डिग्री सेल्सियस होता है उससे कम हो जाता है इसे ठंडा जोर भी कह सकते हैं ऐसे में लहसुन का प्रयोग लाभकारी है अब आपको करना यह है लहसुन के रस को हथेलियों और तलवों पर मलिये ऐसे रोगी क तुरंत लाभ मिलता है।

पेट से संबंधित बीमारियों में लहसुन का प्रयोग “लहसुन के औषधीय गुण”

दोस्तों आज के इस भाग दौड़ भरी दुनिया में पेट से संबंधित समस्या लगभग हर किसी को देखने को मिलती हैं हर व्यक्ति इस तरह की समस्या से परेशान हो ही जाता है जिस में पेट दर्द पेट में वायु बन्ना जैसी समस्या शामिल होती है ऐसे में यदि आप प्रतिदिन लहसुन की चटनी का सेवन करते हैं तो यह अत्यधिक लाभकारी होता है तो इस तरह की समस्या से आपको निजात दिला सकता है।

जोड़ और कमर के दर्द में लहसुन का प्रयोग

दोस्तों समय के साथ जब आपकी उम्र बढ़ती है तब आप जोड़ों और कमर के दर्द से परेशान हो जाते हैं आजकल तो यह भी देखा गया है लगातार कंप्यूटर पर काम करने के कारण नए उम्र के व्यक्तियों में भी इस तरह की समस्याएं देखने को मिलती हैं ऐसे में आप यह कर सकते हैं कि लहसुन डालकर आपको दूध पकाना है हिंदी दूध उबालना है और लहसुन खाकर वही दूध पी लेना है इससे आपको जोड़ों और कमर के दर्द में राहत मिलेगी।”लहसुन के औषधीय गुण”

हैजा मे का प्रयोग।

दोस्तों यदि किसी व्यक्ति को हैजा हो गया है तो ऐसे में लहसुन का रस दिन में कई बार थोड़ी थड़ी मात्रा में सेवन करने से पर्याप्त मात्रा में हैजे पर लाभ प्राप्त होता है

मिर्गी और बेहोशी का उपचार।

दोस्तों लहसुन मिर्गी और बेहोशी में भी अत्यधिक कारगर है यदि किसी को इस तरह की समस्या होती है तब ऐसे में जिस व्यक्ति को मिर्गी आई हैं यह जिसको बेहोशी है उसके नाक और कान में लहसुन की दो दो बूंदें डाल दीजिए इससे उसकी जो मूर्छा होगी वह उस समय ही नष्ट हो जाएगी और व्यक्ति ठीक हो जाएगा।

दाद का इलाज

यदि किसी को दाद है तो ऐसे में भी लहसुन दाद के लिए मरहम का काम करती है लहसुन को पीसकर मल्हम बना लीजिए और दाद पर लगा दीजिए आप देखेंगे कि कुछ ही बार लहसुन लगाने पर दांत पूरी तरह से गायब हो जाता है।”लहसुन के औषधीय गुण”

कुत्ते काटने पर करें यह इलाज।

यदि किसी को कुत्ता काट देता है तो ऐसे में याद आती है लोगों को डॉक्टर के 14 इंजेक्शन हलाकि आजकल 14 जंक्शन नहीं लगते हैं फिर भी यह कहावत बन चुकी है कि कुत्ता काटे तो 14 इंजेक्शन लगेंगे पर जरूरी नहीं है कि 14 जंक्शन ही लगे यदि किसी व्यक्ति को कुत्ता काटता है तो कटे हुए स्थान पर लहसुन को काटकर उसको पेस्ट बना लें और घाव के ऊपर लगा दे इससे इन्फेक्शन नहीं फैलेगा और जब डॉक्टर के पास आप जाएंगे तो इलाज करने में काफी सरलता जाएगी।

खांसी और कफ का इलाज।

यदि आप को खांसी है और कब है और कई दिनों से ठीक नहीं हो रहा है ऐसे में यदि लहसुन की कली का आप प्रतिदिन सेवन करते हैं तो पुरानी खांसी और कफ तरसता से संबंधित यदि कोई और रोग भी है तो वह ठीक हो जाता है और यदि आप लहसुन को प्रतिदिन खाते हैं तो जो आपका खून है वह भी बढ़ता है यानी यहां पर लहसुन आपको कई तरह की बीमारियों से बचाता है इसके अलावा बात की जाए लहसुन रक्त की धमनियों को अवरुद्ध होने से रोकता है यानि ब्लॉकेज होने से रोकता है तो यदि इस तरह आप हमेशा लहसुन का सेवन करते हैं तो यह संभावना कम ही होगी कि आपको भविष्य में कभी हार्ट अटैक जैसी समस्या होगी साथ ही साथ आयोडीन होने से यह गढ़माला पहुंचाता है लहसुन को घी में भूनकर खाने से इसको तीखा पन दूर हो जाता है सब्जियों में डालकर खाने से सब्जियों में उपस्थित विद्यालय कीटाणु तथा जो विषैली चीजें होती हैं उनका प्रभाव नष्ट हो जाता है तो यहां पर हम कह सकते हैं कि लहसुन अत्यधिक गुणकारी है।

तो दोस्तों उम्मीद करता हूं कि लहसुन के इतने सारे गुण जानकर इतनी तरह की बीमारियों में इसका प्रभाव देखकर आप जरूर लहसुन का सेवन करना प्रारंभ कर देंगे और यदि आप कोई यह आर्टिकल अच्छा लगा है तो आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं क्योंकि यहां पर हम इस तरह के आर्टिकल लगातार लिखते रहते हैं जो आपके लिए सदैव ही लाभकारी साबित होंगे।

note दी गई जानकारियां जन जागरूकता में दी गई हैं जो विभिन्न सूत्रों से एकत्रित की गई हैं कृपया किसी भी विधि का प्रयोग करने से पहले अपने स्वविवेक का उपयोग करें धन्यवाद।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *